नई दिल्ली, ग्लोबल वॉर्मिंग भारत के लिए ही नहीं पूरी दुनिया के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। इस वजह से देशों ने मिलकर जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए एक होने का प्रयास किया है। लेकिन जितना जलवायु परिवर्तन का असर कनाडा में देखने को मिला है उसकी उम्मीद किसी ने भी नहीं की होगी। कनाडा में मौसम में भारी परिवर्तन के वजह से मात्र चार दिनों में स्लिम्स नदी लुप्त हो गई। जब इसकी जांच की गई तो पाया कि वातावरण परिवर्तन की वजह से यह हुआ है।

विशेषज्ञ इसको कुदरत का चमत्कार कह रहे है। कास्कावुल्श ग्लेशियर से निकलने वाली 150 मीटर चौड़ी स्लिम्स नदी सैकड़ों से सालों से बह रही थी। एक रिपोर्ट के अनुसार मौसम में आए बदलाव की वजह से ग्लेशियर की बर्फ काफी तेजी से पिघली। जिसके कारण पानी का प्रवाह इतना तेज हो गया कि उसकी दिशा ही बदल गई। इस कारण से नदी ने अपना पुराना रास्ता परिवर्तित कर दिया।

माना जाता है कि यह नदी अलास्का की खाड़ी की तरफ बहती है। एक भूविज्ञानी के अनुसार जब वो नदी वाली जगह पर गये तो उन्होंने पाया नदी एकदम सुख गई है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इस तरह के बड़े परिवर्तन में काफी अधिक समय लगता है। उन्होनें बताया कि ग्लोबल वॉर्मिंग की वजह से स्लिम्स नदी पतली धारा में बदल गई, जबकि दूसरी तरफ ग्लेशियर के पानी की दिशा बदलने से अलास्का नदी कई गुना बड़ी हो गई है। इससे पहले ये दोनों नदियां एक जैसी थीं।