जयपुर, साइबर ठगों ने बैंक कर्मचारी बनकर चार जनों से उनके खाते व एटीएम की जानकारी लेकर पाच खातों से एक लाख 31 हजार रुपए निकाल लिए। साइबर ठगों के एक गिरोह को पकडऩे के बाद कमिश्नरेट पुलिस उनके कुछ साथियों की अभी भी तलाश कर रही है।

वैशाली नगर थाना

वैशाली नगर थाना इलाके में वर्मा कॉलोनी निवासी रामबाबू ने मामला दर्ज करवाया कि उसके पास किसी ने बैंक कर्मचारी बनकर कॉल किया और खाता अपडेट करने के नाम पर उससे एटीएम व खाते की जानकारी ले ली। इसके बाद उसके खाते से करीब 47 हजार रुपए निकाल लिए। पीडि़त ने बताया कि उसके खाते से सात बार में यह राशि निकाली गई है। उसके खाते से 9999, नौ हजार, दो हजार, एक हजार, दस हजार, पांच हजार और 9999 रुपए निकाले गए। ठगी का पता उसे बैंक जाकर खाते की जांच करने पर लगा।

दूसरी घटना में नीलकंठ कॉलोनी निवासी आशीष खुराना के साथ हुई। उसने वैशाली नगर थाने में मामला दर्ज करवाया कि उसके पास भी किसी ने बैंक कर्मचारी बनकर कॉल किया और खाते की जानकारी लेकर चार बार में चौदह हजार रुपए निकाल लिए गए। पीडि़त के खाते से 4514, 5700, 1470 और 2393 रुपए निकाले गए। ठगी का पता पीडि़त को एटीएम से खाते की जानकारी निकालने पर लगी।

बजाज नगर थाना

बजाज नगर थाना इलाके में बजाज नगर एनक्लेव निवासी नारायणी जोशी ने मामला दर्ज करवाया कि किसी ने उसे बैंक कर्मचारी बनकर कॉल किया और उससे खाते की जानकारी लेकर ऑनलाइन पचास हजार रुए की खरीददारी कर ली। ठगी का पता उसे मोबाइल पर मैसेज आने पर लगा। इस पर पीडि़ता ने पुलिस की शरण ली।

आदर्श नगर थाना

चौथी घटना में यश पथ तिलक नगर निवासी अभिषेक पाठक ने आदर्श नगर थाने में मामला दर्ज करवाया कि किसी ने उसके पास भी कुछ इसी प्रकार से कॉल कर खाते व एटीएम की जानकारी ले ली और फिर उसके खाते से 9 हजार रुपए निकाल लिए गए।

रामगंज थाना

पुलिस के अनुसार किरो की गली रामगंज की रहने वाली कुमारी शिवानी जगम ने मामला दर्ज करवाया कि उसके पास एक अज्ञात व्यक्ति का फोन आया, जिसने पीडि़ता को अपनी बातों में फंसाया और कहा कि उसे इनाम में तीन लाख रुपए की नकदी सहित एक बाइक निकली है। जिसे प्राप्त करने के लिए रजिस्टे्रशन कराने के नाम पर करीब 11 हजार रुपए बताए गए खाते में डलवा लिए। उसके बाद गत दिनों पहले फिर फोन आया और फिर आठ हजार रुपए की नकदी जमा कराने के लिए कहा तो उसे शक हुआ। बाद में उसने थाने पहुंचकर घटना की सूचना दी।