नई दिल्ली, पूर्व भारतीय क्रिकेटर जोगिंदर शर्मा के पिता, ओम प्रकाश शर्मा पर उनके दुकान के पास दो असामाजिक तत्वों ने चाकू से हमला कर उनके साथ लूट-पाट की। शनिवार रात, जब 68 साल के ओमप्रकाश शर्मा काठमंडी के पास बने अपने किरयाने की दुकान को बंद कर रहे थे, तभी दो लड़के उनकी दुकान पर कोल्ड़ड्रिंक और सिगरेट खरीदने पहुंचे। वहां से जाने के थोड़ी देर बाद वो लौटे और इन पर हमला कर दिया। अपने शिकायत में शर्मा ने कहा कि, "वो पहले मेरी जेब से कैश लेना चाहते थे। लेकिन जब मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की, उनमें से एक लड़के ने पॉकेट से चाकू निकाल कर मेरे पेट में मारने की कोशिश की। मैंनें अपने हाथों से चाकू पकड़ कर उसे रोकने की कोशिश की। तभी वो मेरी दुकान के अंदर घुस गए और गल्ले से सारा पैसा लेकर चले गए। उन्होंने तकरीबन 7,000 रुपए लिए हैं।

भागते हुए दोनों मवालियों ने दुकान का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया और भाग गए। उन्होंने अपने दूसरे बेटे दीपक को बुलाया, फिर दीपक ने ताला तोड़कर उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया।  दीपक ने बताया कि, "उनके हाथों पर चाकू की चोट थी। अब वो हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किए जा चुके हैं।" शिकायत के आधार पर पुलिस ने अज्ञात मवालियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 342 और 379B के तहत मामला दर्ज कर लिया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि हमलावरों की तलाश के लिए हम सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रहे हैं। आपको बता दें 2007 के टी20 वर्ल्डकप फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ जोगिंदर शर्मा ने आखिरी ओवर में बॉलिंग की थी और भारत को जीत दिलाने में अहम योगदान निभाया था। आजकल जोगिंदर हिसार में डिप्टीसुप्रिंटेडेंट (DSP) के पोस्ट पर कार्यरत हैं।